जैव विविधता क्या है? What is Biodiversity

पौधों, जीव जंतुओं में पाई जाने वाली अलग-अलग प्रकार की विशेषताएं जैव विविधता कहलाती है जैव-विविधता शब्द का प्रयोग वाल्टर जी रासन ने 1985 में किया था

जैव-विविधता के प्रकार Types of Biodiversity

आनुवंशिक विविधता (Genetic Diversity) प्रजातीय विविधता (Species Diversity) पारितंत्र विविधता। (Ecosystem Diversity)

जैव विविधता का मनुष्यों के लिए क्या फायदा है?

जैव-विविधता का मानव जीवन में महत्त्वपूर्ण स्थान है। जैव-विविधता भोजन, कपड़ा, लकड़ी, ईंधन तथा चारा की आवश्यकताओं की पूर्ति करती है।

जैव-विविधता का क्षरण

पृथ्वी पर जैविक संसाधनों के क्षय को जैव विविधता क्षरण के नाम से जाना जाता है। पृथ्वी का जैविक धन जैव-विविधता लगभग 400 करोड़ वर्षों के विकास का परिणाम है।

जैव-विविधता क्षरण के कारण

आवास विनाश आवास विखण्डन पर्यावरण प्रदूषण विदेशी मूल की वनस्पतियों का आक्रमण अतिशोषण शिकार वन विनाश अति-चराई बीमारी चिड़ियाघर तथा शोध हेतु प्रजातियों का उपयोग

जैव-विविधता का संरक्षण

असहाय प्रजाति दुर्लभ प्रजाति आंकड़ों की अभाव वाली प्रजाति अमूल्यांकित प्रजाति अनिश्चित प्रजाति संकटग्रस्त प्रजाति अपर्याप्त रूप से ज्ञात प्रजाति

जैव विविधता अर्थ क्या है What is Biodiversity Meaning

Biodiversity का अर्थ है – Livings (जीवित वस्तुएँ ) तथा Diversity का अर्थ है – Different Species ( विभिन्न प्रजातियाँ )

जैव विविधता (Biodiversity) के जनक कौन है?

ई. ओ. विल्सन को जैवविविधता (Biodiversity) का जनक कहा जाता है।

जैव विविधता दिवस पहली बार कब मनाया गया?

प्रतिवर्ष 22 मई को अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस मनाया जाता है। 20 दिसम्बर 2000 को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा प्रस्ताव पारित करके मनाने की शुरुआत की

भारत में सबसे अधिक जैव विविधता संपन्न क्षेत्र कौन सा है?

 पश्चिमी घाट 5,000 से अधिक फूलों वाले पौधों, 139 स्तनधारियों, 508 पक्षियों और 179 उभयचर प्रजातियों के साथ विश्व के जैव विविधता वाले