जेनरेटर के मूल सिद्धांत

Electric Generator का कार्य, फैराडे के Electromagnetic Induction के नियम पर आधारित है। यह सिद्धान्त निम्नलिखित रूप में व्यक्त किया जा सकता है

जनरेटर के प्रकार (Generator Type)

जनरेटर मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं (1) AC Generator\Alternating Current (प्रत्यावर्ती विद्युत) (2) DC Generator\Direct Current (दिष्ट धारा)

Alternating Current (प्रत्यावर्ती विद्युत)

AC जनरेटर एक ऐसी मशीन है जो यांत्रिक ऊर्जा को प्रत्यावर्ती विद्युत (AC) ऊर्जा में बदलता है।AC जनरेटर को अल्टरनेटर भी कहते हैं।

Direct Current (दिष्ट धारा)

डीसी जनरेटर एक ऐसी मशीन है जो यांत्रिक ऊर्जा को दिष्ट धारा विद्युत ऊर्जा में बदलता है परंतु यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि दिष्ट धारा कभी उत्पन्न नहीं की जा सकती है।

एक विद्युत जनरेटर कैसे काम करता है?

विद्युत जनरेटर विद्युत चुम्बकीय प्रेरण के सिद्धांत पर काम करते हैं। एक कंडक्टर कॉइल एक घोड़े की नाल के प्रकार के चुंबक के ध्रुवों के बीच तेजी से घुमाया जाता है।

सरल विद्युत जनरेटर क्या है?

सबसे सरल जनरेटर में सिर्फ तार का एक तार और एक बार चुंबक होता है। जब आप चुंबक को कुंडली के बीच से धकेलते हैं, तो तार में विद्युत धारा उत्पन्न होती है।

सरल विद्युत जनरेटर क्या है?

सबसे सरल जनरेटर में सिर्फ तार का एक तार और एक बार चुंबक होता है। जब आप चुंबक को कुंडली के बीच से धकेलते हैं, तो तार में विद्युत धारा उत्पन्न होती है।

जेनरेटर क्या है? What is Generator

Electric Generator एक ऐसी Machine है जो Mechanical Energy को Electrical Energy में बदलने का कार्य करती है।

घर पर जनरेटर कैसे काम करता है?

एक पोर्टेबल जनरेटर एक ऑनबोर्ड अल्टरनेटर को बिजली में बदलकर काम करता है जो तब आपके घर को बिजली देने के लिए उपयोग किया जाता है।

जनरेटर घर को कैसे बिजली देता है?

घर के अंदर एक केबल आउटलेट से ट्रांसफर स्विच तक चलती है। जनरेटर से बिजली जेनसेट कॉर्ड के माध्यम से, रिसेप्टकल तक, आंतरिक केबल के माध्यम से, ट्रांसफर स्विच